सुपरस्टार शाहरुख खान निसंदेह रूप से देश के सबसे प्रभावशाली सामाजिक कार्यकर्ताओं में से एक हैं और मीर फाउंडेशन के साथ उनकी पहल ने अक्सर समाज की बेहतरी और उत्थान में योगदान दिया है।

मीर फाउंडेशन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर शुरू की गई हालिया पहल में से एक ‘ टुगेदर ट्रांसफॉर्म ‘ के माध्यम से पचास बर्न और एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए सुधारात्मक सर्जरी प्रायोजित की गई थी। मार्च का पूरा महीना इन सर्जरी के आयोजन के प्रति समर्पित था।

5 मार्च, 2019 से नई दिल्ली में बीएलके सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल और वाराणसी में जीएस मेमोरियल प्लास्टिक सर्जरी अस्पताल और ट्रॉमा सेंटर में सर्जरी की गई, यह संगठन कोलकाता में अपने अगले चरण का संचालन करने के लिए तैयार है। दिल्ली, यूपी, बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड और उत्तराखंड के मरीजों ने पहले ही इस पहल की सुविधाओं का लाभ उठा लिया है जिसमें 85% आबादी महिलाओं और बच्चों की थी।

एक गैर-लाभकारी संस्था मीर फाउंडेशन का लक्ष्य जमीनी स्तर पर बदलाव की शुरुआत करना है और महिलाओं को सशक्त बनाने वाले दुनिया का निर्माण करना है।

शाहरुख सक्रिय रूप से ज़रूरतमंद लोगों को अपना समर्थन देते आये है और अपनी गैर-लाभकारी संगठन मीर फाउंडेशन के साथ मिलकर उन कारणों को उजागर करने के प्रति काम कर रहे है जिन पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता हैं। पिछले साल शाहरुख खान को डेविस में आयोजित वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम 2018 में एसिड अटैक सर्वाइवर्स के प्रति उनके काम के लिए क्रिस्टल अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

मीर फाउंडेशन के बारे में बात करते हुए, शाहरुख खान ने कहा, “मीर फाउंडेशन में किया गया काम मेरे दिल के बहुत करीब है और हम पिछले तीन सालों से इस पर ध्यानपूर्वक काम कर रहे हैं। मीर में उनके पुनर्वास के लिए एक समग्र दृष्टिकोण प्रदान करके एसिड हमलों के पीड़ितों को समर्थन प्रदान किया जाता है। इसे ध्यान में रखते हुए हमने अपनी नई पहल ToGETher Transformed लॉन्च किया है और मैं देश भर में मौजूद अपने सहयोगी डॉक्टर, वकील, अस्पताल, गैर-सरकारी संगठन और स्वयंसेवकों का आभारी हूं, जो हमारे उद्देश्य में हमारी मदद करते हैं। मैं अधिक समान विचारधारा वाले लोगों को एक साथ लाकर हमारे प्रयासों के प्रति अधिक समर्थन प्राप्त करने की उम्मीद करता हूं और निकट भविष्य में एसिड हिंसा को समाप्त करने की उम्मीद करता हूं। ”

फाउंडेशन पहले भी देश भर के कई अस्पतालों में महिलाओं और बच्चों के उपचार और सर्जरी को प्रायोजित करने के साथ-साथ एसिड अटैक पीड़ितों की मदद करने के लिए आगे आया है। इसके अलावा, मीर फाउंडेशन ने स्वास्थ्य शिविर आयोजित करने, पैरा एथलीटों को व्हीलचेयर दान करने, दिव्यांग महिलाओं और बच्चों के लिए इवेंट आयोजन करने और केरल बाढ़ के पीड़ितों को एक बड़ी राशि दान करने में भी मदद की है।

LEAVE A REPLY